अयोध्या के फैसले पर बोले आडवाणी- धन्य हूं इस जन आंदोलन का हिस्सा बनकर

173

आज राम जन्म भूमि-बाबरी मस्जिद विवाद मामले में सर्वोच्च अदालत ने अपना ऐतिहासिक फैसला सुना दिया है। इसके तहत विवादित जमीन को जहां रामलला के मंदिर के लिए सौंप दिया गया है। वहीं मुस्लिम समुदाय को मस्जिद बनाने के लिए 5 एकड़ जमीन देने की बात कही गई है। ऐसे में राजनीतिक प्रतिक्रियाएं भी तेज हो गई हैं। इसी कड़ी अयोध्या मामले में काफी अहम किरदार रहे भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी ने कहा कि  मैं अयोध्या मामले में आज सुप्रीम कोर्ट की पांच-सदस्यीय संविधान पीठ द्वारा दिए गए ऐतिहासिक फैसले का तहे दिल से स्वागत करता हूं।

लालकृष्ण आडवाणी बोले यह मेरे लिए पूर्णता का क्षण है क्योंकि सर्वशक्तिमान ईश्वर ने मुझे जन आंदोलन में अपना विनम्र योगदान देने का अवसर दिया था, जो कि भारत के स्वतंत्रता आंदोलन के बाद से सबसे बड़ा था, जिसके परिणामस्वरूप सुप्रीम कोर्ट का फैसला संभव हो सका।

बता दें कि अयोध्या के आंदोलन में लाल कृष्ण आडवाणी की काफी अहम भूमिका रही है। इस समय लालकृष्ण आडवाणी, उमा भारती, मुरली मनोहर जोशी 1992 में विवादित ढांचे के विध्वंस मामले में मुकदमे का सामना कर रहे हैं।

Twitter पर छबि देखें70 साल पुरानी अयोध्या भूमि विवाद पर आज सुप्रीम कोर्ट ने ऐतिहासिक फैसला सुनाया है जिसमें विवादित जमीन राम मंदिर के लिए दी जाएगी जबकि मुस्लिम समुदाय को अन्य स्थान पर मस्जिद निर्माण के लिए 5 एकड़ जमीन दी जाएगी। संविधान पीठ ने अपने 1045 पन्नों के फैसले में कहा कि नयी मस्जिद का निर्माण प्रमुख स्थल पर किया जाना चाहिए। साथ ही उस स्थान पर मंदिर निर्माण के लिये तीन महीने के भीतर एक ट्रस्ट गठित किया जाना चाहिए जिसके प्रति हिन्दुओं की यह आस्था है कि भगवान राम का जन्म यहीं हुआ था।
Live Cricket Live Share Market